Ahmedabad गुजरात ही क्यों आ रहे है सभी देश के नेता?

0
83
views
donald trump in gujarat

जब जब दुनिया की सबसे बड़ी शक्तियां भारत दौरे पर आएगी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हमेशा गुजरात के अहमदाबाद को ही चुना । यहां तक कि पीएम मोदी ने हर विदेशी मेहमान का स्वागत खुद गुजरात पहुंचकर किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारत की संस्कृति को दर्शाने के लिए अहमदाबाद को मेहमानों का गढ़ बना दिया है। वह शायद इसलिए है क्योंकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोर गुजरात से आते हैं।

Ahmedabad में दुनिया के सबसे शक्तिशाली नेता Prime minister

सितंबर 2014 मैं शी जिनपिंग भारत दौरे पर आए प्रधानमंत्री बनने के बाद चीन के प्रेसिडेंट की मेहमान नवाजी में पीएम मोदी ने कोई कसर नहीं छोड़ी चीनी प्रेसिडेंट और मोदी की जोड़ी कई दिनों तक सुर्खियों में रही थी यह वह था जब पूरी दुनिया ने प्रधानमंत्री मोदी की मेहमान नवाजी की पहली झलक देखि थी।

और वह तस्वीर है आपको जरूर याद होगी जब दोनों देशो के राष्ट्रीय प्रमुख कौन है साबरमती रिवर फ्रंट पर बैठकर झूला झूल कर बातचीत की थी लेकिन यह अलग बात है इससे भारत को कोई खास फायदा नहीं मिला था क्योंकि चीन आज भी भारत का विरोध का कोई मौका नहीं छोड़ता।

शिंजो आबे 2017

चीनी प्रेसिडेंट के बाद भारत दौरे पर आए Japan के प्रधानमंत्री शिंजो आबे। वोह सीधे अहमदाबाद पहुंचे जहां प्रधानमंत्री मोदी ने उनका भव्य स्वागत किया।

Download

सितंबर 2017 में MP Narendra Modi ने एक बार फिर अहमदाबाद को चुना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ शिंजो आबे की दोस्ती जग जाहिर है। अपनी पत्नी के साथ शिंजो आबे ने भी साबरमती आश्रम जाकर महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि अर्पित की थी इस स्वागत सहकार में दोनों मुल्कों को और भी करीब किया। दौरे पर आए जापान के प्रधानमंत्री ने भारत के पहली बुलेट ट्रेन की नीड भी रखी थी।

बेंजामिन नेतन्याहू 2018

जनवरी 2018 में बेंजामिन नेतन्याहू और पत्नी सारा नेतन्याहू के साथ भारत दौरे पर आए और दोनों ही हस्तियां सीधे अहमदाबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल एयरपोर्ट पर पहुंचे। जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनका भव्य स्वागत किया पूरा शहर बेंजामिन नेतन्याहू के स्वागत के लिए तैयार था। दोनों नेताओं ने Ahmedabad Airport से लेकर गांधी आश्रम तक 8 किलोमीटर तक लंबा रोड शो भी किया था। बेंजामिन नेतन्याहू और उनकी पत्नी गांधी आश्रम पहुंचकर महात्मा गांधी के चरखे को भी चलाया था।

Donald Trump 2020

हाउ डि मोदी याद है आपको अरे वही जब अपने प्रधानमंत्री मोदी सितंबर 2019 में अमेरिका गए थे तो वहां उनका ग्रैंड वेलकम हुआ था और हाउ डि मोदी के नारे लगे थे। अब वैसा ही कुछ एक बार फिर होने जा रहा है लेकिन अमेरिका में नहीं भारत में और इस बार हावडी मोदी के जगह होगा नमस्ते ट्रंप यह सब होगा प्रधानमंत्री मोदी के अपने गुजरात में और बात गुजरात की है तो नाम दिया है नमस्ते ट्रंप।

यह सब इसलिए हो रहा है क्योंकि America के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप 2 दिनों के लिए भारत आ रहे हैं लेकिन वह भारत का ही क्यों रहे हैं क्या कोई बिजनेस डील होगी या वजह कुछ और है?

भारत के प्रधानमंत्री मोदी और अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप दोस्त है वह भी पक्के वाले खुद ट्रंप ने ट्वीट करके बोला है कि प्रधानमंत्री उनके दोस्त हैं और दोस्त आपके घर आता है तो उसका ग्रैंड वेलकम करना तो बनता है प्रधानमंत्री ने इसके लिए तैयारी भी अच्छी की हुई है। Trump दिल्ली और गुजरात की राजधानी अहमदाबाद आएंगे।

24 फरवरी 2020 को उतरेंगे और फिर वहां से साबरमती आश्रम तक जाएंगे वहां से निकलकर ट्रंप मोटेरा में बने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेटर स्टेडियम सरदार पटेल स्टेडियम में पहुंचेंगे वहां गरीब 110000 लोगों का स्वागत करेंगे और पूछेंगे केम छो ट्रंप।

फिलहाल हमारी दिलचस्पी इसमें है कि भारत में ट्रंप क्यों आ रहे हैं? जवाब है चुनाव। अमेरिका में इस साल के अंत में राष्ट्रपति के चुनाव होने वाले हैं और दूसरे नेताओं की तरह डोनाल्ड ट्रंप भी दोबारा राष्ट्रपति बनना चाहते हैं और इसके लिए चाहिए वोट। सिर्फ अमेरिका क्यों का नहीं अमेरिका में रहने वाले भारतीय अमेरिकियों का भी।

अमेरिका में करीब 40 लाख भारतीय-अमेरिकी है, इनमें से भी करीब 20% गुजराती है कारोबार से लेकर पढ़ाई लिखाई विज्ञान और तकनीक अमेरिका में हर जगह भारतीय आए हुए हैं वह वोट भी देते हैं और वह डॉनल्ड ट्रंप को वह चाहिए लेकिन उनकी नई इमीग्रेशन पॉलिसी से बहुत सारे वोटर खासकर भारतीय मूल के अमेरिकी वोटर ट्राम से दूर हुए हैं।

बाकी यह तो एक तथ्य है के विदेश में और खास तौर पर अमेरिका में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकप्रिय है ब्रिस्टल में हुए हावरी मोदी इवेंट को दुनिया ने देखा जहां 50000 से भी ज्यादा अमेरिकी भारतीय ने राउडी मोदी के नारे लगाए। और डोनाल्ड ट्रंप पीएम मोदी के साथ खड़े होकर अपने उन्हीं वोटरों को संदेश देना चाहते हैं के ऑल इज वेल।

मोदी सरकार अमेरिका के आर्म्स कंपनी लॉकेट्स मार्केट से 2:10 बजे अरब डॉलर के हेलीकॉप्टर खरीद को मंजूरी देने की प्रक्रिया में है इसके अलावा अमेरिकी कंपनी बोइंग ने भी कहा है ट्रंप के भारत दौरे के दरम्यान वह इंडियन एयरफोर्स a15 ई एक्स ईगल फाइटर विमान बेचने का प्रस्ताव दे सकती है बोइंग की नजर इंडियन एयरफोर्स 18 अरब डॉलर की लागत से खरीदने जाने वाले 114 लड़ाकू विमानों के करार पर भी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here